Conferences & Workshops


National Seminar on RTI : Prospects and Challenges

(A National Seminar on RTI : Prospects and Challenges was organized by BJMC Department, PadamShree Dr. Alok Mehta, Editor & TV Broadcaster and Dr. Yogendra Nararain, Former Decretary General of Rajya Sabha were keynote speakers. BJP voice President of UP Nawab Singh Nagar presided the program. Shri Mayank Agarwal, MD IIMT Group of Colleges welcomed the Guest, and  Prof. Anil Nigam , Dean BJMC introduced the subject while Dr. Rahul Goel ,Director gave vote of Thanks...)

आरटीआई की संभावनाएं एवं चुनौतियां विषय पर विचार गोष्ठीि

गोपनीयता कानून आरटीआई में सबसे बड़ा रोड़ा: डॉ. योगेंद्र  नारायण

ग्रेटर नोएडा। अंग्रेजों के जमाने के गोपनीयता कानून को समाप्ता कर देना चाहिए। आरटीआई कार्यकर्ता जिनकी हत्यान हो रही है, उस पर गंभीरता से विचारकर उनको सुरक्षा मुहैया करानी चाहिए ताकि लोग निर्भय होकर आरटीआई के तहत सूचना प्राप्त  कर सकें। ये बातें राज्य सभा के पूर्व महासचिव डॉ योगेन्द्रर नारायण ने नॉलेज पार्क 3 स्थित आईआईएमटी कॉलेज में ‘’सूचना का अधिकार-संभावनाए एवं चुनौतियां’’ विषय पर आयोजित संगोष्ठीक में कही। आगे उन्हों ने कहा कि आरटीआई अभी सिर्फ शहरों तक सीमित होकर रह गया है, इसलिये ग्रामीण क्षेत्रों के लोगों को जागरुक करने के लिए सार्थक पहल करने की आवश्यीकता है। इसके पहले आईआईएमटी कॉलेज समूह के प्रबंध निदेशक मयंक अग्रवाल ने अतिथियों का स्‍वागत किया।

पदमश्री एवं वरिष्ठै संपादक डॉ अलोक मेहता ने कहा कि आरटीआई जानकारी प्राप्त  करने का बहुत अच्छाड औजार है। लेकिन इसका दुरूपयोग नहीं होना चाहिए। आरटीआई के तहत अगर कोइ गलत जानकारी मिल रही है तो पत्रकार की जिम्मेवदारी है कि खबर प्रकाशित करने से पहले उसकी सत्य ता की जांच कर ले। उन्होंदने कहा कि आरटीआई के माध्यीम से सत्ताज हासिल कर दिल्लीन के मुख्यममंत्री बनने वाले अरिवंद केजरीवाल की ही सरकार मे पारर्दशिता नहीं है।

पूर्वमंत्री एवं भाजपा के प्रदेश उपाध्य क्ष नवाब सिंह नागर ने कार्यक्रम की अध्यवक्षता की। उन्होंजने कहा कि आरटीआई आमजन के हित में बहुत सशक्ती और उपयोगी कानून है, वक्तानओं ने जो सवाल उठायें है वो बहुत जायज हैं। मैं उनकी मांग को सरकार तक प्रेषित करने और उसका समाधान कराने की कोशिश करूंगा । 

आईआईएमटी कॉलेज समूह के प्रबंध निदेशक मयंक अग्रवाल ने कहा कि आरटीआई ने आम लोगों को मजबूत और जागरूक बनाने में बहुत बड़ी भूमिका निभाई। आरटीआई जनता को सरकार से जुड़े सभी बातों को जानने का अधिकार देता है। उन्होंलने आये हुए अतिथियों का छात्रों के मार्गदर्शन करने के लिये धन्य वाद किया । 

आईआईएमटी कॉलेज ऑफ मैनेजमेंट के निदेशक डॉ राहुल गोयल ने आये हुए सभी अतिथियों का आभार व्य क्तॉ किया एवं सभी छात्र-छात्राओं कों आरटीआई का सकारात्मंक दिशा में उपयोग करने की सलाह दी। 

पत्रकारिता एवं जनसंचार विभाग के डीन प्रो अनिल निगम ने आरटीआई की चुनौतियों के बारे में विस्तानर से बताया और विषय प्रवर्तन करते हुए अतिथियों के समक्ष सवाल रखे।  


Documentary and short film festival organized by BJMC on (21.09.17)